मुश्किलों का स्वागत कीजिए

अपनी काम की समस्याओं का धन्यवाद दीजिए| क्योकिं आपको अपनी आधी इनकम उन्हीं की वजह से मिलती है| क्योंकि अगर गलत होने वाली चीजें नहीं होतीं, या फिर ऐसे कठिन लोग नहीं होते जिनका सामना आपको करना पड़ता है, या फिर समस्याएं नहीं होती, या फिर आपका काम उबाऊ नहीं होता, तो कोई भी व्यक्ति आपको मिलने वाली सैलरी के आधे में ही, इस काम करने लिए तैयार हो जाता|

किसी भी काम की मुश्किलों को हल करने के लिए समझदारी, सूझ-बूझ, कुशलता और हिम्मत की जरूरत पड़ती है| और आपके पास आपकी वर्तमान नौकरी होने की यही वजह है| और शायद यही वजह है कि आप इससे बेहतर कोई दूसरी नौकरी नहीं कर रहे|

अगर हममें से हरेक और ज्यादा मुश्किलों का स्वागत करने लगे, और उन्हें खुशी-खुशी, एक अच्छे विवेक के साथ संभालना सीख जाए, बजाय उनसे परेशान होने के, तो हम बहुत तेजी के साथ आगे बढ़ सकते हैं| क्योंकि यह तो एक सच्चाई है कि काफी तादाद में बड़ी नौकरियाँ उन लोगों का इन्तजार कर रहीं होती हैं जोकि उनसे जुडी मुश्किलों से नहीं घबराते|

[यह article आपको कैसा लगा, कृपया comments के जरिए इस पर अपनी राय जाहिर करें]


नए लेख ई-मेल से प्राप्त करें :

Some related links (कुछ सम्बंधित लिंक)

खुशी पहले, बाकी सब बाद में 
आखिर आपका मूल्य क्या है?
आत्म-अनुशासन : कठिन-परिश्रम

Read More Articles in Hindi


यह लेख ‘आज का विचार(भाग-1) से लिया गया है|
आज का विचार (भाग-1) खरीदें

4 Comments on “मुश्किलों का स्वागत कीजिए”

  1. आपका ब्लॉग मुझे बहुत अच्छा लगा, और यहाँ आकर मुझे एक अच्छे ब्लॉग को फॉलो करने का अवसर मिला. मैं भी ब्लॉग लिखता हूँ, और हमेशा अच्छा लिखने की कोशिस करता हूँ. कृपया मेरे ब्लॉग पर भी आये और मेरा मार्गदर्शन करें.

    http://hindikavitamanch.blogspot.in/
    http://kahaniyadilse.blogspot.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *